विभागीय वैबसाइट के लेआउट / डिज़ाइन में परिवर्तन के कारण अनुरक्षण एवं अद्यतन किये जाने की प्रक्रिया गतिमान है|

विभाग

Home > विभाग



विभाग के अन्तर्गत विभिन्न प्रभागों का विवरण
गीत एवं नाटय योजना
पर्वतीय क्षेत्र के जिन दुरूह, दुर्गम एवं जनजातीय अंचलों में समाचार-पत्र, पत्रिकाओं, आकाशावाणी एवं दूरर्दशन आदि संचार माध्यमों से सरकार के यािकलापों की जानकारी नहीं पहुंच सकती थी, अब वहां नवीन उत्तरांचल राज्य के गठनोपरान्त, सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग पर्वतीय राज्य की भौगोलिक परिस्थितियों के अनुरूप अपनी गीत एवं नाटय योजना को सुदृढ़ कर सरकार की नीतियों, निर्णयों एवं उपलब्धियों के प्रति जनजागरण का महत्वपूर्ण कार्य साक्त एवं प्रभावी ढंग से सम्पादित कर रहा है।

इस योजना से एक ओर जहां अपनी लोक संस्कृति को सहेजने और संजोने का गुरूत्तर कार्य हो रहा है। वहीं स्थानीय प्रतिभाओं के विकसित होने की राह प्रास्त है। स्थानीय लोगो को रोजगार एवं जीवन यापन के तरीकों में भी परिवर्तन आये है। इसी कड़ी में इस योजना के अन्तर्गत लगभग सभी जनपदों से राज्य स्तर पर पंजीकृत लोक गीत, लोक नृत्य, कठपुतली, कब्वाली, भजन, नाटक, नुक्कड़ नाटय दलों को पंजीकृत किया गया है, जिनसे शासन की नीतियों निणर्यों और उपलब्धियों के प्रचार-प्रसार का कार्य सांस्कृतिक कार्यमों के माध्यम से कराया जाता है ।